Search Song

Friday, 3 January 2020

CHHAPAAK LYRICS - Arijit Singh | Chhapaak Title Song


CHHAPAAK LYRICS
कोई चेहरा मिटा के
और आंख से हटा के
चंद छींटें उड़ा के जो गया
छपाक से पहचान ले गया

एक चेहरा गिरा
जैसे मोहरा गिरा
जैसे धूप को ग्रहण लग गया
छपाक से पहचान ले गया
ना चाह न चाहत कोई
ना कोई ऐसा वादा है
हा
ना चाह न चाहत कोई
ना कोई ऐसा वादा है
हाथ में अंधेरा
और आंख में इरादा
कोई चेहरा मिटा के
और आंख से हटा के

चंद छींटें उड़ा के जो गया
छपाक से पहचान ले गया
एक चेहरा गिरा
जैसे मोहरा गिरा
जैसे धूप को ग्रहण लग गया
छपाक से पहचान ले गया

बेमानी सा जुनून था
बिन आग के धुआं
बेमानी सा जुनून था
बिन आग के धुआं
ना होश ना ख्याल
सोच अंधा कौन
कोई चेहरा मिटा के
और आंख से हटा के
चंद छींटें उड़ा के जो गया
छपाक से पहचान ले गया
एक चेहरा गिरा
जैसे मोहरा गिरा
जैसे धूप को ग्रहण लग गया
छपाक से पहचान ले गया
आरज़ू थी शौक थे
वो सारे हट गए
कितने सारे जीने के तागे कट गए
आरज़ू थी शौक थे
वो सारे हट गए
कितने सारे जीने के तागे कट गए
सब झुलस गया
कोई चेहरा मिटा के
एक चेहरा गिरा
जैसे मोहरा गिरा
जैसे धूप को ग्रहण लग गया
छपाक से पहचान ले गया
छपाक से पहचान ले गया
पहचान ले गया
पहचान ले गया
 ------------------------------------------------------------------------------------

Koi chehra mita ke

Aur aankh se hata ke

Chand chheente uda ke jo gaya




Chhapaak se 


pehchaan le gaya


Ek chehra gira

Jaise mohra gira
Jaise dhoop ko grahan lag gaya




Chhapaak se 


pehchaan le gaya


Na chaah na chaahat koi

Na koi aisa waada haa



Haath mein andhera

Aur aankh mein eraaada



Koi chehra mita ke

Aur aankh se hata ke
Chand chheente uda ke jo gaya




Chhapaak se


pehchaan le gaya


Ek chehra gira

Jaise mohra gira
Jaise dhoop ko grahan lag gaya




Chhapaak se 


pehchaan le gaya


Pehchaan le gaya



Lyricswifi

No comments:

Post a Comment