Search Song

Monday, 13 January 2020

Khulne Do in Lyrics - Chhapaak | Arijit Singh


Khulne Do in Lyrics

मैली मैली सी सुबह धुलने लगी है 
मैली मैली सी सुबह धुलने लगी है 
गिरह लगी थी साँस में
खुलने लगी है 
खुलने लगी है

बर्फ की डली थी कोई 
घुलने लगी है 
गिरह लगी थी साँस में 
खुलने लगी है 
खुलने लगी है

खुलने दो खुलने दो
आसमां खुलने दो 
खुलने दो खुलने दो 
आसमां खुलने दो 

उजाला हो तो जाएगा 
कहीं ना कहीं से 
अंधेरा भी छटेगा ही 
कभी तो ज़मीन से 
पलकें तो नही है नज़र उठने लगी है 
गिरह लगी थी साँस में खुलने लगी है 
खुलने लगी है

खुलने दो खुलने दो
आसमां खुलने दो खुलने दो
खुलने दो आसमां खुलने दो 

खुलने दो

No comments:

Post a Comment